Tuesday, October 22, 2019

हरियाणा का सटीक एग्जिट पोल आज आ चुका है, इस पार्टी की बन सकती है सरकार

SHARE

हरियाणा विधानसभा चुनाव 2019(Haryana Assembly Elections 2019)


नई दिल्ली : हाल ही में हरियाणा में होने वाले विधानसभा चुनाव संपन्न हो चुके हैं । पूरे हरियाणा में कुल 90 विधानसभा सीटों के ऊपर चुनाव लड़ा गया था जिनका रिजल्ट 24 तारीख को आने वाला है । और सभी राजनीतिक दलों की निगाहें 24 अक्टूबर की तरफ देख रही हैं । जैसे ही 24 अक्टूबर को नतीजे आएंगे तो तय हो जाएगा हरियाणा के अगले सीएम का ताज किसके सिर पर सजेगा । सुबह 7:00 बजे शुरू हुआ मतदान शाम 6:00 बजे तक चला और लोगों ने दबाकर वोटिंग की । हालांकि चुनाव में नतीजों से पहले ही एग्जिट पोल आने शुरू हो जाते हैं एबीपी न्यूज़ के सर्वे ने हरियाणा की सीटों को लेकर एग्जिट पोल के नतीजे जारी कर दिये है देख लेते हैं पूरे आंकड़े...

Hariyana-vidhansabha-chunav-exit-pol-2019

कांग्रेस को कितनी सीटें मिलेगी हरियाणा में


एबीपी न्यूज के सर्वे एग्जिट पोल के मुताबिक 90 सीटों वाले हरियाणा विधानसभा में एक बार फिर कमल खिलता हुआ नजर आ रहा है । एग्जिट पोल में भारतीय जनता पार्टी के खाते में 72 सीटें जा सकती है, यानी भाजपा पूर्ण बहुमत के साथ सरकार बनाती हुई दिख रही है । वहीं कांग्रेस पार्टी महज 8 सीटों पर सिमटी हुई नजर आ रही है । विधानसभा की 10 सीटें अन्य को मिल सकती हैं । कांग्रेस चुनाव में पीछे जा चुकी है एग्जिट पोल के आंकड़े दोपहर 3:00 बजे तक की वोटिंग के आधार पर लिए गए हैं ।

हरियाणा में एक बार फिर खट्टर सरकार


हरियाणा में वोट शेयर की अगर बात की जाए तो भारतीय जनता पार्टी को 44 फीसदी वोट शेयर मिलता हुआ नजर आ रहा है, वहीं कांग्रेस पार्टी के खाते में महज 28 फ़ीसदी वोट शेयर जा सकता है । दुष्यंत चौटाला की जननायक जनता पार्टी के खाते में 17 फ़ीसदी और अन्य के खाते में 11 फ़ीसदी वोट शेयर जाता हुआ नजर आ रहा है । यानी कुल मिलाकर एग्जिट पोल के नतीजों की बात की जाए तो हरियाणा में एक बार फिर मनोहर लाल खट्टर के नेतृत्व में भाजपा सरकार बनने जा रही है । वहीं एग्जिट पोल के सर्वे को नकारते हुए पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने कहा कि कांग्रेस हरियाणा में पूर्ण बहुमत की सरकार बनाने जा रही है ।

47 सीटें जीती थी 2014 में भाजपा ने


आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इससे पहले 2014 के विधानसभा चुनावों में भाजपा को 47 सीटों पर जीत मिली थी । वहीं कांग्रेस के खाते में महज 15 सीटें हो गई थी इस चुनाव में । इंडियन नेशनल लोकदल को 19 सीटें मिली थी । चुनाव नतीजों के बाद भाजपा ने अकेले अपने दम पर बहुमत हासिल किया और मनोहर लाल खट्टर के नेतृत्व में सरकार बनाई । इससे पहले राज्य में लगातार 10 साल कांग्रेस की सरकार रही । 2019 के लोकसभा चुनावों में भी हरियाणा में भाजपा ने ही जीत का परचम लहराया और प्रदेश की सभी 10 सीटों पर जीत हासिल की ।

गुटबाजी से जूझ रही कांग्रेस


2019 के लोकसभा चुनावों में मिली हार के बाद हरियाणा में कांग्रेस सरकार लगातार गुटबाजी से जूझ रही है । इस गुटबाजी से निपटने के लिए हाल ही में कुमारी शैलजा को प्रदेश अध्यक्ष बनाया गया था । इसके बाद पार्टी नेतृत्व से नाराज चल रहे अशोक तंवर ने कांग्रेस पर टिकट बेचने का आरोप लगाते हुए पार्टी से इस्तीफा दे दिया । विधानसभा चुनाव में अशोक तंवर ने जननायक जनता पार्टी का समर्थन किया । भाजपा, कांग्रेस और जन नायक पार्टी के अलावा ओमप्रकाश चौटाला की पार्टी इंडियन नेशनल लोकदल चुनाव मैदान में थे ।

दोस्तों हमें कमेंट करके बताइए आप के अनुसार हरियाणा में किस पार्टी की सरकार बन सकती है । हमें आपके महत्वपूर्ण सुझावों का इंतजार रहेगा ।

SHARE

Author: verified_user

0 comments: